International Migrants Day Theme 2022

International Migrants Day Theme 2022:अंतरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस क्यों मनाया जाता है ?इसकी थीम क्या है?

अंतरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस प्रतिवर्ष 18 दिसंबर को मनाया जाता है 

आखिर 18 दिसंबर को ही अंतरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस क्यों मनाया जाता है ?इसकी थीम क्या है? विश्व स्तर पर अंतरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस मनाया जाता है?




      

International Migrants Day Theme 2022:अंतरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस क्यों मनाया


 इस प्रवासी दिन को संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वारा चयनित किया गया है। इसको बनाने का मुख्य उद्देश्य 272 मिलियन प्रवासियों के योगदान को सबके सामने लाना है

यह 272 मिलियन प्रवासी लोग आंतरिक रूप से विस्थापित होते हैं। तथा उनके सामने हर रोज नई नई चुनौतियां आती रहती हैं।

 तथा उन्हें हर रोज बहुत सारी समस्याओं का सामना करना होता है ।

मुख्य तौर पर यह उन प्रवासियों के संघर्ष को सबके सामने लाना इसका मुख्य उद्देश्य है।

तो सबसे पहले आपको बता देते है कि प्रवसन और प्रवासी क्या होते हैं?

 संसार में लोगों को अंतर्राष्ट्रीय सीमा को पार करके किसी वजह से दूसरी सीमा में जाना और वहां पर निवास करना ही अंतर्राष्ट्रीय प्रवसन कहलाता है।  जो लोग यह काम करते हैं उन्हें प्रवासी कहा जाता है। प्रवासी अपने घर आवास को हमेशा के लिए छोड़ कर किसी दूसरी सीमा में या दूसरे देश या दूसरी जगह में जाकर निवास करते हैं,  और वहां पर घर बनाते हैं तथा वहां जाकर बसने वाले लोगों को ही अंतरराष्ट्रीय प्रवासी कहा जाता है ।

प्रवासियों की समस्याएं सामान्य लोगों की तुलना में बहुत अधिक होती है उनका जीवन बहुत अधिक कठिनाई से व्यतीत होता है

क्या है इस दिन का इतिहास?



किंतु 18 दिसंबर को ही अंतरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस क्यों मनाया जाता है इसके बारे में आपको बता देते हैं 18 दिसंबर 1990 को महासभा ने सभी प्रवासी श्रमिक तथा उन प्रवासी श्रमिकों के परिवारों के सदस्यों के अधिकारों को संरक्षित करने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन प्रस्ताव प्राप्त किया था जिसमें लाखों-करोड़ों प्रवासियों द्वारा उनके मेजबान तथा निवासी घरेलू देशों की अर्थव्यवस्था में किए गए योगदान को मान्यता दी गई थी तथा इसकी बुनियाद मानव अधिकारों का सम्मान था यह दिवस पहली बार 1990 में मनाया गया था तथा 1990 में यह 18 दिसंबर के दिन मनाया गया था इसी वजह से प्रतिवर्ष 18 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय प्रवासी दिवस मनाया जाता है

क्या है इतिहास

18 दिसंबर 1990 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सभी प्रवासियों के अधिकारों और उनके परिवारों को संरक्षण पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को अपनाया. 4 दिसंबर 2000 को महासभा ने दुनिया में प्रवासियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए 18 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *