,

GATE 2024: IISC ने डाटा साइंस एंड आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का नया पेपर GATE 2024 पोर्टल लांच किया, जिसका आवेदन 24 अगस्त से शुरू होगा।

GATE 2024: भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc) बेंगलूरू ने शुक्रवार 5 अगस्त को GATE 2024 अभियांत्रिकी स्नातक अभिक्षमता परीक्षा (GATE) के लिए नया पोर्टल लांच किया। 24 अगस्त को रजिस्ट्रेशन विंडो को इसी महीने ओपेन किया जा सकता है। गेट 2024 के लिए संस्थान ने डाटा साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का एक नया पेपर जोड़ा है। यह खबर अन्य पेपर की सूची के लिए पढ़ें।

GATE 2024

देश भर में इंजीनियरिंग और तकनीकी उच्च शिक्षा संस्थानों में पीजी और पीएचडी पाठ्यक्रमों में दाखिले की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण अपडेट। 2024 में इन पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए अभियांत्रिकी स्नातक अभिक्षमता (GCET) का आयोजन भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc) बेंगलूरू में किया जाएगा। शुक्रवार, 5 अगस्त 2023 को, संस्था ने gate2024.iisc.ac.in नामक परीक्षा का पोर्टल शुरू किया। किंतु 8 अगस्त से यह पोर्टल उपलब्ध होगा।

24 अगस्त को आवेदन शुरू हो सकता है।

IISC बेंगलूरू के नए Gate 2024 पोर्टल पर एक अपडेट है, जो बताता है कि अगले वर्ष की परीक्षा में शामिल होने के लिए रजिस्ट्रेशन विंडो इसी महीने 24 अगस्त को ओपेन की जा सकती है। उम्मीदवार इस पोर्टल पर पहले पंजीकरण करके अपना आवेदन सबमिट कर सकते हैं, फिर अपने पंजीकृत विवरणों से लॉग-इन करेंगे। उम्मीदवारों को आवेदन के दौरान ऑनलाइन परीक्षा शुल्क का भुगतान करना होगा।

डाटा साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर एक नवीनतम लेख

IISC बेंगलूरू ने अपने नए पोर्टल पर इस बार गेट परीक्षा के लिए एक नया पेपर जोड़ा है। गेट 2024 के लिए संस्थान ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और डाटा साइंस का एक नया पेपर बनाया है। ऐसे में, Gate 2024 को 30 पेपरों में बनाया जाएगा। इन विषयों के लिए गेट परीक्षा का आयोजन किया जाता है। 
एयरोस्पेस इंजीनियरिंग एई इंस्ट्रुमेंटेशन इंजीनियरिंग, कृषि इंजीनियरिंग, गणित, वास्तुकला और योजना, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, बायोमेडिकल इंजीनियरिंग, खनन इंजीनियरिंग, जैव प्रौद्योगिकी, धातुकर्म इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, नौसेना वास्तुकला और समुद्री इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग, पेट्रोलियम इंजीनियरिंग, कंप्यूटर विज्ञान और सूचना प्रौद्योगिकी, भौतिकी, रसायन विज्ञान, उत्पादन और औद्योगिक इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग, सांख्यिकी, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, कपड़ा इंजीनियरिंग और फाइबर विज्ञान, पर्यावरण विज्ञान और इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग विज्ञान, पारिस्थितिकी और विकास, मानविकी और सामाजिक विज्ञान, जियोमैटिक्स इंजीनियरिंग, जीवन विज्ञान, भूविज्ञान और भूभौतिकी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *