Lakshadweep vs Maldives: PM मोदी का लक्षद्वीप दौरा, मालदीव की मंत्री का बयान और छिड़ी बहस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ दिन पहले लक्षद्वीप के दौरे पर गए थे। इस दौरान उन्होंने वहां की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा की थीं। इसके बाद सोशल मीडिया पर एक चर्चा ये छिड़ी कि लोग छुट्टियां मनाने मालदीव जाने के बजाय लक्षद्वीप जाएं। पीएम मोदी ने भी लोगों से लक्षद्वीप जाने के लिए कहा था। भारत से हर साल बड़ी संख्या में लोग छुट्टियां मनाने के लिए मालदीव जाते हैं। लेकिन मालदीव की सरकार ने नहीं चाहा कि भारत-मालदीव के रिश्ते खराब हों। इसलिए मालदीव की सरकार ने प्रधानमंत्री मोदी के लक्षद्वीप दौरे का स्वागत किया।

Lakshadweep vs Maldives: PM मोदी का लक्षद्वीप दौरा, मालदीव की मंत्री का बयान और छिड़ी बहस

मालदीव की सरकार ने अपने चुनावी अभियान में भी भारत के साथ अच्छे संबंधों का नारा दिया था। इसलिए जब प्रधानमंत्री मोदी के लक्षद्वीप जाने की चर्चा तेज हुई तो मालदीव की ओर से भी प्रतिक्रियाएं आने लगीं। मालदीव सरकार में मंत्री मरियम शिउना ने तो प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीरों पर आपत्तिजनक ट्वीट तक किए। हालांकि बाद में उन्होंने अपना एक ट्वीट लिट कर डिलीट कर दिया जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर कुछ आपत्तिजनक बातें लिखी थीं। अपने एक ट्वीट में मरियम लिखती हैं कि मालदीव को भारतीय सेना की कोई जरूरत नहीं है।

जब मालदीव के बजाय लक्षद्वीप जाने की चर्चाएं तेज हुईं तो मालदीव की ओर से भी प्रतिक्रियाएं आने लगीं। मालदीव सरकार में मंत्री मरियम शिउना ने तो प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीरों पर आपत्तिजनक ट्वीट तक किए। हालांकि बाद में उन्होंने अपना एक ट्वीट लिट कर डिलीट कर दिया जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर कुछ आपत्तिजनक बातें लिखी थीं। अपने एक ट्वीट में मरियम लिखती हैं कि मालदीव को भारतीय सेना की कोई जरूरत नहीं है।

For those who wish to embrace the adventurer in them, Lakshadweep has to be on your list.

During my stay, I also tried snorkelling – what an exhilarating experience it was! pic.twitter.com/rikUTGlFN7

— Narendra Modi (@narendramodi) January 4, 2024

मालदीव सरकार ने अपने मंत्री के ट्वीट को लेकर रविवार को बयान जारी कर सफाई दी है। जारी बयान के अनुसार विदेशी नेताओं और शीर्ष व्यक्तियों के खिलाफ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपमानजनक टिप्पणी के बारे में मालदीव सरकार को जानकारी मिली है। ये टिप्पणियां निजी हैं और मालदीव सरकार के नजरिए का प्रतिनिधित्व नहीं करती हैं। बयान के अनुसार, सरकार का मानना है कि बोलने की आजादी का प्रयोग लोग तार्किक और जिम्मेदार तरीके से करें ताकि इससे नफरत, नकारात्मकता और अंततः देश के साथ बड़े और अन्य राजनयिक भागीदारों के साथ संबंध प्रभावित न हों। साथ ही बयान में ये भी कहा गया है कि सरकार के संबंधित विभाग ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने से हिचकेंगे नहीं जो इस तरह के अपमानजनक टिप्पणी करते हैं।

हालांकि मालदीव के बयान पर मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने प्रतिक्रिया दी थी और सोशल मीडिया पर लिखा था कि मालदीव सरकार की मालदीव सरकार क्या बायवा भाषा बोल रही है।

अब सलमान खान समेत कई भारतीय हस्तियां प्रधानमंत्री मोदी के लक्षद्वीप दौरे पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रही हैं। सलमान खान ने इस सोशल मीडिया पर लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी को लक्षद्वीप के साफ समुद्र तट पर देखना बहुत कुल है। सब अच्छी बात ये है कि ये हमारे इंडिया में है। अक्टर जोन अब्राहम ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि भारत के कमाल के स्वागत सत्कार की बात और अतिथि देवो भवावा का खयाल, साथी घूमने के लिए विशाल समुद्री जीवन, लक्षुदीप जाने की जगह है। इन हस्तियों की ओर से से एक्सप्लोर इंडियन आयलैन हैशटैग का इस्तेमाल किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *